रिपोर्ट @मिर्जा अफसार बेग 

वर्ष 2022 में व्यवसायिक पुलिसिंग अर्थात् Smart Policing को उत्कृष्टता से संपादित करने के लिए शहडोल ज़ोन के जिला शहडोल, उमरिया और अनूपपुर के पुलिस अधीक्षकों में cut throat competition रहा। इस प्रतिस्पर्धा के अंतर्गत सामान्य पुलिसिंग के 45 शीर्ष निर्धारित किए गए, जिनका परिणाम निम्नानुसार है :-


जिला उमरिया ने 45 शीर्षों में से शीर्षों में स्वर्ण पदक प्राप्त किया, जो शहडोल जोन में सर्वाधिक प्राप्त कर प्रथम स्थान पर है। द्वितीय स्थान पर अनूपपुर है जिसने 17 शीर्षों में स्वर्ण पदक प्राप्त किए हैं। तृतीय स्थान पर शहडोल है जिसने 14 शीर्षों में स्वर्ण पदक प्राप्त किए हैं। यह प्रतिस्पर्धा शीर्षों में कार्यवाहियों के मूल्यांकन के प्रतिशतों के आधार पर गई है। जैसे निर्धारित शीर्षों में यदि उत्कृष्टतम कार्यवाही होती है तो उस शीर्ष में उस जिले को प्रथम स्थान दिया गया है। प्रथम स्थान पर आने पर उस शीर्ष को स्वर्ण पदक से अलंकृत किया गया है।

उदाहरणार्थ चिन्हित अपराध में जिला उमरिया द्वारा कुल 07 चिन्हित प्रकरणों की विवेचना पूर्ण कर 07 चिन्हित प्रकरणों में माननीय न्यायालय में चालान प्रस्तुत किया गया। इस प्रकार सर्वाधिक कार्यवाही के लिए निर्धारित स्वर्ण पदक प्राप्त किया। जिला शहडोल ने गुम अवयस्क बालक/बालिका की सर्वाधिक 76% दस्तयाबी की और जिला अनूपपुर ने चिन्हित अपराधों में माननीय न्यायालय से 79% दोषसिद्धि प्राप्त की, जो सर्वाधिक है। अतः जिला शहडोल और अनूपपुर को उन शीर्षों में प्रथम स्थान एवं स्वर्ण पदक से सम्मानित किया है।


सभी पुलिस अधीक्षकों को निर्देशित किया गया है कि वे व्यवसायिक पुलिसिंग के जिन शीर्षों में उत्कृष्ट प्रदर्शन से चूक गए हैं, उनकी समीक्षा करें और अपराधों की रोकथाम एवं पतारसी में आधुनिक / फोरेंसिक / सायबर आदि टेक्नॉलॉजी के साथ-साथ मानवीय संवेदनाओं का भी अपनी व्यवसायिक रणनीति में स्पंदन करें।