रिपोर्ट @मिर्जा अफसार बेग

*देशभक्ति एवं जन‌ सेवा सर्वोपरि- एडीजीपी श्री सागर* 

*पुलिस की सफलता में पत्रकारों की अहम भूमिका- एडीजीपी* 

*स्मार्ट पुलिसिंग की अवधारणा जवाबदेही- एडीजीपी* 

*जोन स्तरीय वार्षिक सराहनीय कार्यों पर पत्रकार वार्ता का हुआ आयोजन* 



*शहडोल -* अतिरिक्त पुलिस महानिदेशक शहडोल जोन श्री दिनेश चंद्र सागर ने कहा कि पुलिस के लिए देश भक्ति एवं जन सेवा सर्वोपरि होता है। पुलिस समाज का रक्षक होता है। कानून की रक्षा करना और लोगो से कानून का पालन करना और करवाना पुलिस का कर्त्तव्य होता है। समाज में बढ़ रहे अपराधों पर अंकुश लगाना पुलिस का कर्तव्य होता है। समाज में शांति एवं सौहार्द स्थापित करना पुलिस का परम दायित्व है। हमारी शहडोल जोन की पुलिस इन कार्यों का बखूबी निर्वाहन कर रही है। देश के माननीय प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी के पीएम स्मार्ट पुलिसिंग की अवधारणा को हमारी पुलिस मूर्त रूप दे रही है। स्मार्ट पुलिसिंग की अवधारणा बहुत ही जवाबदेही है, इससे जुड़कर पुलिस विभाग की क्षमता बढ़ी है। आज हमारे जोन के डिविजनल इंस्पेक्टर जनरल ऑफ पुलिस, सभी जिलों के पुलिस अधीक्षक, अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक, सभी अनुविभागीय अधिकारी पुलिस, रक्षित निरीक्षक, थाना प्रभारी, सब इंस्पेक्टर एवं पुलिस जवान का बहुमूल्य योगदान है। इनकी परिपक्वता सराहनीय है। उक्त उद्बोधन अतिरिक्त पुलिस महानिदेशक शहडोल जोन श्री दिनेश चंद्र सागर ने आज कलेक्ट्रेट कार्यालय के विराट सभागार में जोन स्तरीय वार्षिक सराहनीय कार्य पर आयोजित पत्रकार वार्ता में व्यक्त किए।

पत्रकार वार्ता में अतिरिक्त पुलिस महानिदेशक शहडोल जोन ने कहा कि हमारे शहडोल जोन में पुलिस अधीक्षक द्वारा व्यक्तिगत रुचि लेकर टॉप टेन उल्लेखनीय कार्य किए गए हैं, जिनमें हमारे पुलिस विभाग के सभी अधिकारियों एवं अधिकारियों का अतुल्नीय योगदान है। उन्होंने कहा कि हमारा कार्य टीम भावना के कार्य से होता है इस दृष्टिकोण से कार्य में निपुणता एवं सुगमता बनता है। हमारे पुलिस का ध्यान अपराधों की रोकथाम में होना चाहिए। इसके लिए पुलिस के अधिकारी अपना नेटवर्क मजबूत रखें जिससे अपराधियों का सुराग मिल सके। जिससे अभियोजन में आरोपी बेनकाब हो और माननीय न्यायालय के सामने उनका वास्तविक अपराध सिद्ध हो सके। उन्होंने कहा कि समाज के प्रति, अन्याय के प्रति पुलिस का कर्तव्य बाकियों से अलग है। जनता की सेवा सर्वोपरि है, किसी के आंसू को पोछने व दुख कम करने के कार्य सभी पुण्य कार्यों से बढ़कर होता है।

पत्रकार वार्ता को संबोधित करते हुए पुलिस अधीक्षक श्री कुमार प्रतीक ने कहा कि हमारा जवान हमारे देश की शान होता है। देश एवं समाज हित में पुलिस विभाग सभी प्रकार के कानून को संरक्षित एवं संवर्धित रखने के लिए कार्य करता है और लोगों को अपराध नियंत्रण में महती भूमिका अदा कर लोगों को अपराध मुक्त समाज में रहने की सहूलियत प्रदान करता है। उन्होंने कहा कि मुझे गर्व है कि कुदरत ने मुझे पुलिस के रूप में अपने दायित्वों का निर्वहन करने का अवसर दिया। जिससे कि मैं देश समाज के हित में कार्य कर सकूं। उन्होंने कहा कि माननीय प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी के स्मार्ट पुलिसिंग की अवधारणा को हमारी पुलिस बखूबी निभा रही है तथा उसकी मदद से कई सारे साइबर के ऐसे प्रकरणों को हल करने लगातार सफलता प्राप्त कर रहे हैं।

अतिरिक्त पुलिस महानिदेशक शहडोल जोन ने पत्रकारों को जानकारी दी कि शहडोल जोन में जिलेवार सभी पुलिस अधीक्षकों के बीच अपराधों की रोकथाम के लिए स्वच्छ प्रतिस्पर्धा नवंबर में प्रारंभ की गई है, जिस पर जिसका जितना अपराधियों के विरुद्ध कार्यवाही होगा उस आधार पर पुलिस अधीक्षक को प्रशंसा पत्र मिलेगा। अपराधों की रोकथाम में साइबर का महत्वपूर्ण योगदान है। जैसे कि सीसीटीवी, डीएनए रिपोर्ट, फॉरेंसिक लैब रिपोर्ट तथा ब्लड रिपोर्ट इत्यादि के माध्यम से अपराधियों पर कार्यवाही करना और अधिक सरल एवं सुगम हो जाता है। साइबर का प्रयोग बेहतर से बेहतर करें। इस दौरान अतिरिक्त पुलिस महानिदेशक ने जिलेवार पुलिस विभाग के उल्लेखनीय कार्यों की जानकारी पत्रकारों को दी। 

पत्रकार वार्ता में एडिशनल डीआईजी श्रीमती प्रतिमा एस. मैथ्यू, अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक श्री मुकेश कुमार वैश्य, रक्षित निरीक्षक श्री दीपेंद्र सिंह सूबेदार श्री अभिनव राय सहित अन्य पुलिस विभाग के अधिकारी एवं पत्रकार बंधु उपस्थित थे।