रिपोर्ट @मिर्जा अफसार बेग 

भोपाल। सहारा इंडिया में विंध्य क्षेत्र के अलावा संपूर्ण मध्यप्रदेश के छोटे-छोटे निवेशकों की राशि फंसी हुई है गरीब छोटे कामगार छोटे व्यापारियों महिलाओं का बचत और खून पसीने की कमाई परिपक्वता के बाद भी वापस ना मिलने से उनमें भारी असंतोष पनप रहा है अकेले सतना जिले में ही सहारा से वापसी योग्य राशि करोड़ों में है पैसा ना मिलने के कारण निवेशक खाताधारकों व एजेंटों में विवाद की स्थिति निर्मित हो रही है लोग प्राथमिकी दर्ज कराने थानों में चक्कर काट रहे हैं जिससे कानून व्यवस्था की भी स्थिति निर्मित हो रही है सहारा इंडिया से निवेशकों का पैसा वापस दिलाने में सेबी की प्रक्रिया व गति अत्यंत धीमी है प्रदेश के निवेशकों का पैसा वापस दिलाने जाने हेतु विशेषज्ञों व वरिष्ठ अधिकारियों का एक समूह गठित कर निवेशकों का पैसा वापस दिलाने हेतु हर संभव प्रयास किया जाए जिससे सहारा समूह की प्रदेश में स्थित संपत्तियों की नीलामी व अन्य स्रोतों से गरीब निवेशकों का पैसा अति शीघ्र वापस करने  की कार्यवाही हो सके श्री त्रिपाठी जी ने मध्य प्रदेश के मुखिया माननीय शिवराज सिंह चौहान जी से अनुरोध किया की इस मामले में सक्रिय केंद्र सरकार भी विभिन्न एजेंसियों से चर्चा और हस्तक्षेप कर प्रदेश के लोगों का सहारा की कंपनियों में फसा पैसा वापस दिलाने हेतु समुचित कार्रवाई करें जिससे प्रदेश के गरीब छोटे कामगार छोटे व्यापारियों छोटे निवेशकों जिन्होंने पाई पाई जोड़ कर बच्चों की पढ़ाई बेटी की शादी माता-पिता की बीमारी की स्थिति में व अन्य कार्य के लिए जीवन की जमा पूंजी इस कंपनी में जमा किया था उसे वापस दिलाया जाए जिससे लोगों की जमा पूंजी प्राप्त हो सके।