रिपोर्ट @मिर्जा अफसार बेग 

थाना जैतपुर क्षेत्रांतर्गत दिनांक 23.12.22 को फरियादी डोगेश्वर सिंह निवासी ग्राम देवगढ का डायल-100 के माध्यम से सूचना दिया कि लफदा से चूहरी जाने वाली रोड मे ग्राम देवगढ छपरा धारा के पास एक व्यक्ति की लाश पड़ी है। सूचना की तस्दीक हेतु जैतपुर पुलिस मौके पर रवाना हुई। घटना स्थल ग्राम देवगढ पहुंचकर मौके का निरीक्षण किया गया एवं देहांती मर्ग नालसी तैयार कर शव पंचनामा कार्यवाही कर जांच में लिया गया। प्राथमिक जांच के दौरान प्रथम दृष्टया अपराध धारा 302 ताहि का पाये जाने से अपराध क्रमांक 582/22 धारा 302 भादवि का पंजीबद्ध कर विवेचना मे लिया गया। दौरान विवेचना संदेहियों से पूछताछ से पता चला कि दिनांक वक्त घटना को मृतक मनोज सिंह उर्फ चूड़ामणि पिता दद्दू सिंह गोंड़ उम्र 25 वर्ष निवासी धुरवार का आरोपी हेमन्त सिंह गोड पिता अशोक सिंह गोड उम्र 18 वर्ष निवासी ग्राम चाका थाना बुढार की मोटर सायकल से पिछले 02 दिन से लेकर घूम फिर रहा था । जिसे ढूंढते हुये 01. आरोपी हेमन्त सिंह उर्फ गोलू पिता अशोक सिंह उम्र 18 वर्ष, 02 नारेन्द्र सिंह पिता बृजमोहन सिंह उम्र 26 वर्ष एवं 03. कोमल सिंह पिता रामकरण सिंह उम्र 26 वर्ष तीनो निवासी चाका थाना बुढार के ग्राम लफदा पहुंचे और अपनी मोटर सायकल ले जाने की बात को लेकर उससे मारपीट किये जिससे मनोज सिंह की मृत्यु हो गयी। जिसे आरोपियों ने रोड के किनारे छोड़कर वापस ग्राम चाका चले गये। आरोपियों की पता तलाश कर दिनांक 25.12.22 को दस्तयाब कर उनका मेमोरेण्डम कथन लेख किया गया जो उपरोक्त घटना कारित करना स्वीकार किये। विवेचना में आये नये साक्ष्यों के आधार पर प्रकरण में धारा 201, 450, 34 ताहि का इजाफा किया गया है। सभी आरोपियो को जैतपुर पुलिस द्वारा गिरफ्तार कर न्यायालय पेश किया गया है। प्रकरण की विवेचना एवं आरोपियो की पता तलाश एवं गिरफ्तारी मे निरी.भानू प्रताप सिंह, उप निरी बलराम सिंह, सउनि विजय बुंदेला, प्र. आर. शेषमणी मार्को, आर. नारेन्द्र सिह, राममोहन शर्मा एवं विजय कुमार महरा की सराहनीय भूमिका है।