varanasi: बड़ागांव थाना क्षेत्र के करोमा में लगभग दो वर्ष पहले रसोई गैस सिलेंडर में आग लगने से झुलसी दो महिलाओं की इलाज के दौरान मौत हो गई थी। प्रकरण में कोर्ट के आदेश पर तत्कालीन बीएसए जय सिंह, खंड शिक्षाधिकारी डीपी सिंह, प्रधानाध्यापक शैलेश कुमार, पूर्व प्रधान दिलीप सरोज समेत विद्यालय के अन्य के खिलाफ गैर इरातदन हत्या में मुकदमा दर्ज किया गया है।


शिकायत करने वाले राहुल यादव ने बताया कि दादी अमरावती देवी (65) करोमा प्राथमिक विद्यालय में रसोइया थीं। मां बीना देवी (40) आंगनबाड़ी सहायिका के रूप में काम करती थीं। घटना के दिन गैस पाइप में लीकेज होने के बावजूद प्रधानाध्यापक शैलेश कुमार, तत्कालीन प्रधान दीलीप सरोज, बदामा देवी और अन्य तीन चार अज्ञात विद्यालय के कर्मचारी जबरदस्ती खाना बनवा रहे थे। आग लगी और दोनों गंभीर रूप से झुलस गईं। इलाज के दौरान दोनों की मौत हो गई। प्रकरण में बीएसए और खंड शिक्षाधिकारी ने लीपापोती की। पीड़ित परिवार को न्याय नहीं मिल सका


from UpdateMarts| PRIMARY KA MASTER | SHIKSHAMITRA | Basic Shiksha News | UPTET https://ift.tt/3bvhcZk
via IFTTT